प्रिंट मीडिया

*कोरोना से जंग में इफको ने दिया 1500 मास्क का सहयोग*

*रायपुर।* सहकारी क्षेत्र में एशिया की सबसे बड़ी फर्टीलाइजर निर्माता इफको द्वारा कोरोना वायरस से लोगों के बचाव के लिए अनेक उपाय किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में आज भारतीय राष्ट्रीय सहकारी आवास संघ अध्यक्ष व रायपुर विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा के माध्यम से 1500 मास्क का वितरण किया गया। छग राज्य सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता की उपस्थिति में मास्क प्रदान करते हुए इफको के राज्य विपणन प्रबंधक शैलेन्द्र चौहान ने कहा कि किसानों व सहकारी क्षेत्र में कार्य करने में इफको का हमेशा योगदान रहता है। इसके पूर्व भी बड़ी संख्या में इफको द्वारा मास्क, सेनेटाइजर का वितरण किया गया है। खास बात यह है कि यह मास्क भी सहकारी क्षेत्र की छ.ग. राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी संघ द्वारा ही निर्मित है।
—————————————————————————————————————————————–

—————————————————————————————————————————————–

प्रदेश के सेवा सहकारी समिति संचालकों का भत्ता होगा दोगुना

पंजीयक सहकारी संस्थाएं द्वारा गठित कमेटी ने दी रिपोर्ट

इस निर्णय से सेवा सहकारी समिति संचालकों में बढ़ेगी सक्रियता -झुनमुन गुप्ता

बालोद जिला सहकारी संघ की आमसभा में उठी थी मांग

बालोद। प्रदेश भर की प्राथमिक कृषि सहकारी साख समितियों के संचालकों का बैठक व यात्रा भत्ता दोगुना से भी ज्यादा होने का मार्ग प्रशस्त हो गया है। वर्तमान में पैक्स लेम्पस सेवा सहकारी समितियों के संचालकों को मिलने वाला बैठक व यात्रा भत्ता 80 रु. से बढ़ाकर 170 रु. तक करने की सिफारिश पंजीयक सहकारी संस्थाएं छग रायपुर द्वारा गठित कमेटी द्वारा कर दी गई है। बालोद जिला सहकारी संघ मर्यादित बालोद की 30 सितंबर 2019 को आयोजित आमसभा में सेवा सहकारी समितियों के प्रतिनिधियों ने भत्ता बढ़ाने की मांग किया था। बैठक में उपस्थित भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ नई दिल्ली शासी परिषद सदस्य व रायपुर विधायक सत्यनारायण शर्मा और छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी संघ व बालोद जिला सहकारी संघ के अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता ने भी इस मांग को उचित बताते हुए सहमति दिया था।
बालोद जिला सहकारी संघ द्वारा आमसभा के निर्णय के साथ उक्त आशय की मांग पंजीयक सहकारी संस्थाएं छत्तीसगढ़ रायपुर से की गई थी। पंजीयक इस विषय पर विचार करने के लिए 13 जनवरी को संयुक्त पंजीयक सहकारी संस्थाएं रायपुर संदीप गुप्ता की अध्यक्षता में 4 सदस्य कमेटी का गठन किया था जिसमें बालोद जिला सहकारी संघ के अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता, छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी संघ के एमडी एनआरके चंद्रवंशी व दुर्ग उप पंजीयक सुशील तिग्गा शामिल थे। आदेश के परिपालन में कमेटी द्वारा प्राथमिक बुनकर सहकारी समिति, प्राथमिक दुग्ध सहकारी समिति, लघु वनोपज सहकारी समिति जैसी छत्तीसगढ़ की विभिन्न वर्गों की प्राथमिक सहकारी समितियों में संचालक मंडल के सदस्यों को वर्तमान में प्रदाय किए जा रहे बैठक/यात्रा भत्ता की दरों का अवलोकन कर निर्णय लिया। पूर्व में पंजीयक सहकारी संस्थाएं द्वारा वर्ष 2013 में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के संचालकों का बैठक भत्ता 80 रु. निर्धारित किया गया था। वर्तमान स्थिति में 7 वर्षों के उपरांत महंगाई को दृष्टिगत रखते हुए कमेटी ने सर्वसम्मति से प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के कार्यक्षेत्र, समिति मुख्यालय से कार्यक्षेत्र की अधिकतम दूरी आदि को दृष्टिगत रखते हुए संचालक सदस्यों के बैठक/ यात्रा भत्ता के लिए अधिकतम 170 रु. प्रदाय किए जाने की अनुशंसा किया है।
—————————————————————————————————————————————–

—————————————————————————————————————————————–
अंतरराष्ट्रीय सहकारिता दिवस वेबिनार गोष्ठी आयोजित
राज्य सहकारी संघ के सभागार से सत्यनारायण शर्मा ने किया सम्बोधित
जलवायु परिवर्तन में सहकारिताओं की भूमिका होगी महत्त्वपूर्ण
रायपुर। विश्व भर की सहकारिता ओं को एकजुटता का संदेश देने वाले अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर वेबीनार गोष्ठी का आयोजन छग राज्य सहकारी संघ सभागार में भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ शाषी परिषद सदस्य व विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा के मुख्य आतिथ्य में तथा राज्य सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में इफको के स्टेट मार्केटिंग मेनेजर शैलेन्द्र चौहान, एनसीडीसी के रीजनल डायरेक्टर व्हीके दुबासी, राज्य सहकारी संघ के संचालक अलेक्जेंडर तीर्की व हरीश तिवारी, प्रबंध संचालक एनआके चन्द्रवंशी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्हीके शुक्ला, पेक्स व लेम्प्स कर्मचारी युनियन के प्रदेशाध्यक्ष ईश्वरी प्रसाद साहू उपस्थित थे।
—————————————————————————————————————————————–
—————————————————————————————————————————————–
अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर संदेश
आदरणीय सहकारी साथीगण
सादर अभिवादन,
संपूर्ण विश्व में सहकारिता से जुड़े लोगों के सहकारी महापर्व, अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर आप सभी का हार्दिक अभिनंदन करता हूं। प्रत्येक वर्ष जुलाई माह के प्रथम शनिवार को मनाया जाने वाला यह पर्व, इस वर्ष 4 जुलाई को है। अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता का यह दिवस, विश्व की सभी सहकारिताओं को अपने-अपने क्रियाकलापों का मूल्यांकन करने, एक दूसरे से संवाद स्थापित करने तथा सहकारी कार्यक्रमों के माध्यम से एक दूसरे से जुड़ने का अवसर प्रदान करता है। विश्व भर के सहकारी आंदोलन पर जब हम नजर डालते हैं, तो पाते हैं कि यह आंदोलन लोगों के आर्थिक उन्नयन, स्वावलंबन व सामाजिक सरोकारों के साथ-साथ पूरे ब्रह्मांड की विभिन्न परिस्थितियों की भी चिंता करता है। कुछ ऐसी ही सोच के साथ हमारे अंतर्राष्ट्रीय सहकारी गठबंधन ने इस वर्ष के अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस की थीम का नाम ” कोऑपरेटिव्स फॉर क्लाइमेट एक्शन ” दिया है। ” जलवायु परिवर्तन में सहकारिताओं की भूमिका ” नामक यह थीम बिल्कुल ही नए विषय पर है तथा सहकारी आंदोलन से जुड़े लोगों के लिए एक चैलेंज भी है। चैलेंज यह है कि अब तक किए गए कार्यों की लीक से हटकर नई दिशा, नई ऊर्जा व नई सोच के साथ कुछ नया करके दिखाएं और प्रत्येक क्षेत्र में सहकारी आंदोलन के महत्व को प्रतिष्ठित करने में अपना योगदान देवें।
जलवायु परिवर्तन सहकारिता से जुड़े लोगों को भी किसी न किसी रूप में प्रभावित करता है। खासकर लघु व सीमांत कृषक, महिलाओं, युवाओं व स्वदेशी उत्पादों पर प्राकृतिक बदलाव का अत्यधिक असर पड़ता है। प्राकृतिक आपदाओं से संसाधनों का काफी ह्रास होता है। वर्तमान में उत्पादन एवं उपभोग के ऐसे तरीके अपनाए जा रहे हैं जो हमारे पर्यावरण को हानि पहुंचाते हैं। अंतर्राष्ट्रीय सहकारी गठबंधन के अध्यक्ष एरियल गुआर्को ने कहा कि हमें यह करके दिखाना होगा कि सामाजिक समावेश और प्राकृतिक साधनों का संरक्षण करते हुए भी, हम अपनी अर्थव्यवस्था विकसित कर सकते हैं। रासायनिक खेती से बचते हुए, जैविक खेती की ओर बढ़ते हमारे कदम इसी का उदाहरण है।
वर्तमान में दुनिया में चल रहे कोविड-19 कोरोना की महामारी में जरूरतमंद लोगों तक आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने में, उन्हें मदद करने में, सीधे आर्थिक सहयोग करने में सहकारी क्षेत्र ने जो भूमिका निभाई है, वह सहकारिता के महत्व को उजागर करता है।
अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस की शुरुआत वर्ष 1922 में हुई। अंतर्राष्ट्रीय सहकारी संघ के तत्कालीन अध्यक्ष जीजेडीसी गोदर्थ ने प्रत्येक क्षेत्र में सहकारिता की आवश्यकता को महसूस करते हुए यह प्रस्ताव रखा कि प्रत्येक देश में प्रचार प्रसार अभियान चलाकर, सहकारी कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए। विश्व भर में सहकारी आंदोलन के बारे में जानकारी प्रदान कर जागरूकता फैलाया जाए। उनके इस प्रस्ताव को स्वीकार कर संयुक्त राष्ट्र संघ ने यह निर्णय लिया कि प्रति वर्ष जुलाई माह के प्रथम शनिवार को अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस के रुप में मनाया जाए। इस उत्सव का उद्देश्य सहकारिता के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाना तथा राष्ट्र के पूरक लक्ष्यों और उद्देश्यों के साथ अंतर्राष्ट्रीय सहकारी आंदोलन को प्रकाश में लाना है वैश्विक स्तर पर सहकारी अर्थव्यवस्था एक अरब से अधिक सदस्यों को एकीकृत करती है और दुनिया की 10% आबादी के लिए रोजगार पैदा करती है। 300 सबसे बड़ी सहकारी संस्थाओं का कारोबार, दुनिया की छठी अर्थव्यवस्था के सकल घरेलू उत्पाद के बराबर है। आज सबसे कठिन परिस्थितियों में भी सहकारी आंदोलन, समुदायों को बचाने, उन्हें स्वास्थ्य, सामाजिक और आर्थिक आपातकाल को दूर करने में मदद करने के लिए काम कर रहा है। जो सहकारिता के मजबूत नेटवर्क को दर्शाने के लिए काफी है।
अंत में अंतर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस की एक बार फिर शुभकामनाएं देते हुए मैं अपनी बात समाप्त करता हूं।
धन्यवाद
झुनमुन गुप्ता
अध्यक्ष
छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी संघ
मर्यादित छग, रायपुर
—————————————————————————————————————————————–
—————————————————————————————————————————————–
—————————————————————————————————————————————-
—————————————————————————————————————————————–
—————————————————————————————————————————————–
—————————————————————————————————————————————–

12 अक्टूबर 2020

कोविड19 की मजबूरियां खत्म होते ही सहकारी समितियों के डोरस्टेप पर प्रशिक्षण देने का निर्णय

छग राज्य सहकारी संघ बोर्ड की बैठक में अपेक्स बैंक अध्यक्ष, आवास संघ अध्यक्ष, किसान कल्याण बोर्ड अध्यक्ष समेत संचालकों ने लिए कई महत्त्वपूर्ण निर्णय

रायपुर। लाकडाउन की मजबूरियां खत्म होते ही प्रदेश भर की सहकारी समितियों को उनके डोरस्टेप पर जाकर प्रशिक्षित करने सहित अनेक निर्णय छग राज्य राज्य सहकारी संघ के बोर्ड की बैठक में लिया गया। राज्य सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में विधायक व भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ नई दिल्ली शाषी परिषद सदस्य सत्यनारायण शर्मा, अपेक्स बैंक अध्यक्ष बैजनाथ चन्द्राकर, राज्य आवास संघ के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल, किसान कल्याण परिषद अध्यक्ष सुरेन्द्र शर्मा, राज्य सहकारी संघ के उपाध्यक्ष रविंद्र सिंह भटिया, संचालक अलेक्जेंडर तिर्की, संदीप श्रीवास्तव, विशेषज्ञ संचालक हरीश तिवारी, मनोहर दत्त तिवारी, हेमंत साहू, द्वारिका प्रसाद सोनी, राज्य सहकारी संघ के प्रबंध संचालक एनआरके चन्द्रवंशी शामिल थे।

सहकारी प्रशिक्षण को और अधिक प्रभावी बनाने की आवश्यकता: सत्यनारायण शर्मा

प्रदेश भर की सहकारी समितियों के संचालकों को प्रशिक्षण देकर ही प्रदेश के सहकारी आंदोलन को और अधिक प्रभावशाली व उपयोगी बनाया जा सकता है। विधायक व भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ नई दिल्ली शाषी परिषद सदस्य सत्यनारायण शर्मा ने यह बात राज्य संघ के संचालक मण्डल की बैठक में व्यक्त किया।
छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी संघ के बोर्ड की बैठक 12 अक्टूबर 2020 को संघ मुख्यालय चौबे कालोनी रायपुर में आयोजित की गई। बोर्ड ने भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ नई दिल्ली में 23 नवम्बर 2020 को होने वाले शाषी परिषद के निर्वाचन में भाग लेने के लिए राज्य सहकारी संघ की ओर से संघ से भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ नई दिल्ली के लिए निर्वाचित प्रतिनिधि श्री सत्यानारायण शर्मा के नाम की पुष्टि की गई। बैठक के दौरान बोर्ड ने राज्य सहकारी संघ के आगामी आमसभा आयोजित करने के संबंध में निर्णय लिया। बोर्ड ने वर्ष 2019-20 के आयोजित प्रशिक्षण सत्रों, लक्ष्य पूर्ति तथा वर्ष 2020-21 के प्रस्तावित प्रशिक्षण सत्रों तथा लक्ष्य पूर्ति की समीक्षा किया। संघ के शासकीय अनुदान आहरण की स्वीकृति दी गई। बैठक में संघ द्वारा प्रकाशित सहकारी समाचार पत्र, संघ द्वारा किये जा रहे विभिन्न प्रशिक्षण के सम्बंध में विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में सहकारिता के प्रचार-प्रसार तथा ग्रामीण सुदूर अंचलो में दौरा करने के लिए वाहन क्रय करने का भी निर्णय लिया गया।
—————————————————————————————————————————————–

पं. वामन राव लाखे सहकारिता सम्मान 2020 से हुआ सम्मान

रायपुर मे आयोजित एक समारोह में छग राज्य सहकारी संघ के अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता को  “पं. वामन राव लाखे सहकारिता सम्मान 2020” से सम्मानित किया गया। शिक्षा प्रचारक समिति रायपुर द्वारा आयोजित इस समारोह के मुख्य अतिथि विधायक एवं पूर्व मंत्री श्री सत्यनारायण शर्मा थे। इस समारोह में सहकारी क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए अपेक्स बैंक अध्यक्ष बैजनाथ चन्द्राकर, किसान कल्याण परिषद के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र शर्मा, शिक्षा के क्षेत्र में पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केशरी लाल वर्मा, हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. अरुण पल्टा, एस एस पी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. लक्ष्मी शंकर निगम सहित लेखन, साहित्य, सांस्कृतिक, संगीत, विधि, पत्रकारिता व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के विशेष लोगों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम सफल बनाने में आयोजन समिति अध्यक्ष अजय तिवारी, अनिल तिवारी, सुरेश शुक्ला, हरीश तिवारी सहित अनेक लोगों का सक्रिय योगदान रहा।

—————————————————————————————————————————————–


14-20 नवम्बर 2020 , 67वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का शुभारंभ

14 नवम्बर को छग राज्य सहकारी संघ मुख्यालय में आयोजित 67वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का शुभारंभ

शुभारंभ में अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता द्वारा सहकारी सतरंगा ध्वज फहरा कर किया गया। इस अवसर पर उपस्थित कृभको स्टेट मार्केटिंग हेड जेपी सिंह, संघ के एमडी व रायपुर उपपंजीयक एनआरके चन्द्रवंशी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्हीके शुक्ला, संचालक हरीश तिवारी, संघ के मानसेवी सदस्य अश्विन बबलू त्रिवेद, जिला सहकारी संघ रायपुर अध्यक्ष जितेन्द्र धुरंधर प्रबंधक श्रीमती मंजूषा तिवारी, संचालक अनिल तिवारी व अन्य।

छग राज्य सहकारी संघ द्वारा आयोजित 67वें अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह के प्रथम दिवस 14 नवम्बर, आयोजित संगोष्ठी में उपस्थित छग राज्य सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता, पंजीयक कार्यालय रायपुर से उपपंजीयक नारायण टंडन, राज्य संघ एमडी व उपपंजीयक रायपुर एनआरके चन्द्रवंशी, संचालक हरीश तिवारी, जिला सहकारी संघ रायपुर अध्यक्ष जितेन्द्र धुरंधर, प्रबंधक मंजूषा तिवारी, कृभको स्टेट मार्केटिंग हेड जेपी सिंग, संघ के मानसेवी सदस्य अश्विन बबलू त्रिवेद व अन्य सहकारी जन।

—————————————————————————————————————————————–

Rajnadgaon अशोक राईसमिल में हुई सहकारी संगोष्ठी

67 वां अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का शुभारंभ जिला सहकारी संघ एवं अशोक सहकारी चावलमिल एवं विपणन समिति राजनांदगांव के संयुक्त तत्वावधान में संगोष्ठी हुई|

गोष्ठी का शुभारंभ गायत्री परिवार से उपस्थित महाराज जी के मत्रोचार एवं पूर्व प्रधानमंत्री प. जवाहर लाल नेहरू जी के तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रजवलन कर किया गया| जिसमें पी. एस. लोन्हारे सहायक पंजीयक एवं प्रभारी अधिकारी जिला सहकारी संघ, अमलेन्दु हाजरा लोकपाल राजनांदगांव, महेश साहू पूर्व उपाध्यक्ष एवं प्रतिनिधि जिला सहकारी संघ, एन कुमार साहू प्रभारी प्रबंधक जिला सहकारी संघ, एस. डी. साहू लेखापाल, प्रेम साहू अशोक राइस मिल सहित सहकारिता से जुड़े किसान उपस्थित थे|


Ambikapur 14 Nov 2020 Jila Sahkari Sangh Ambikapur

—————————————————————————————————————————————–


Jagdalpur, Jila Sahkari Sangh Jagdalpur

कोविड-19 के दौर में सहकारिता की भूमिका महत्वपूर्ण – मनोहर दत्त तिवारी

67 वांअखिल भारतीय सहकारी सप्ताह का हुआ शुभारंभ जगदलपुर,14 नवंबर। राष्ट्रीय सहकारीसंघ गई दिल्ली के मार्गदर्शन पर प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी 67 वां अखिल भारतीयसहकारी सप्ताह का शुभारंभ छग राज्य सहकारी संघ मर्या रायपुर के दिशानिर्देश पर बस्तर संभाग के संभागीय कार्यालय जगदलपुर में आज मनोहरदत्त तिवारीमानसेवी संचालक छग राज्य सहकारी संघ मर्या रायपुर द्वारा सहकारी ध्वजारोहणउपरांत छग राज्य सहकारी संघ के अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता के संदेश का वाचन सेप्रारंभ किया गया।

मानसेवी संचालक मनोहर दत्त तिवारी द्वारा 67 वें अखिल भारतीय सहकारीसप्ताह के मुख्य विषय कोविड महामारी-आत्मनिर्भर भारत व सहकारिताएं विषय परबोलते हुए कहा कि कोविड-19 के दौर में सहकारिताओं की भूमिका कोमहत्वपूर्ण बताते हुए संभाग के सभी सहकारी बन्धुओं को अखिल भारतीय सहकारीसप्ताह एवं दीपावाली की हार्दिक शुभकामनाएं प्रदान की गई। कार्यक्रम के दौरानप्रति दिवस आयोजित कार्यक्रम के विषय पर विवेकानंद झा सहायक सहकारी शिक्षा अधिकारीद्वारा अवगत कराया गया। कार्यक्रम का संचालन विवेक पांडे जिला सहकारी शिक्षा प्रशिक्षकबस्तर द्वारा किया गया। कार्यक्रम के दौरान सहकारी संस्थाओं के अधिकारी/कर्मचारीव सहकारी बन्धु उपस्थित रहे।

—————————————————————————————————————————————–

15 नवबंर 2020, Kurud, Jila Sahkari Sangh Dhamtari

सहकारी सप्ताह के द्वितीय दिवस रविवार को कुरुद में आयोजित संगोष्ठी में उपस्थित छग राज्य सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्हीके शुक्ला, जिला सहकारी संघ धमतरी अध्यक्ष प्रवीण चन्द्राकर व प्रमुख सहकारी गण।


16 नवबंर 2020, Latabod Balod

अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह के तीसरे दिन छग राज्य सहकारी संघ, इफको व जय किसान सहकारी समिति लाटाबोड़ के संयुक्त तत्वाधान मे गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें छग राज्य सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता, पूर्व विधायक व जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के पूर्व अध्यक्ष डोमेन्द्र भेड़िया, वरिष्ठ सहकारी नेता पुरुषोत्तम पटेल, इफको क्षेत्रीय प्रबंधक दिनेश गांधी,  राज्य सहकारी संघ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व्हीके शुक्ला, बालोद मार्केटिंग सोसायटी अध्यक्ष प्यारे लाल साहू, पूरनलाल साहू, कोमल साहू, धरम साहू सहित मंचस्थ थे। सहकारिता से जुड़े अनेक लोग, किसान व ग्रामीण उपस्थित थे।

—————————————————————————————————————————————–

रायगढ़। 17 नवबंर 2020

नवीन कृषि बिलो में संशोधन से किसानों को होगा फायदा:उमेश पटेल

रायगढ़ के कोतरा गांव में सहकारी सप्ताह का आयोजन, स्थानीय लोगों ने दिखाई दिलचस्पी

रायगढ़। 67 वे अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह अंतर्गत 17 नवम्बर को राज्य सहकारी संघ एवं जिला सहकारी संघ के सहयोग से

सेवा सहकारी समिति तारापुर द्वारा ग्राम कोतरा में सहकारी सम्मेलन का आयोजन किया गया।

जिसके पहले सत्र का उदघाटन श्री निराकार पटेल अध्यक्ष जिला पंचायत रायगढ़ एवं श्री रविन्द्र सिंह भाटिया उपाध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी संघ तथा श्री राजेश नायक अध्यक्ष जिला सहकारी संघ रायगढ़ द्वारा दीप प्रज्वलित एवं सहकारी ध्वजारोहण कर किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मंत्री उमेश पटेल  छत्तीसगढ़ शासन ने अपने उद्बोधन में कहा कि धान खरीदी का कार्य बहुत ही महत्वपूर्ण है और प्रदेश की 80% लोग किसानी से जुड़े हुए हैं, इसी को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए ₹2500 में धान खरीदने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गोधन न्याय योजना की शुरुआत करके भी किसानों की आय दोगुनी करने तथा जैविक खेती को बढ़ावा देने का कार्य किया है। श्री पटेल ने भारत सरकार के कृषि कानूनों में बदलाव के बारे में बताते हुए कहा कि मंडी अधिनियम, भंडारण अधिनियम एवं संविदा खेती के नवीन कानून को भूपेश सरकार संशोधित करवाने का प्रयास कर रही है, जिससे इसका सीधा लाभ प्रदेश के किसानों को मिलेगा। उन्होंने कानून में बदलाव करने के लिए एक सुझाव भी दिया जिसमें किसानों के इंशुरेंस का खर्च व्यापारी वर्ग को उठाने प्रावधान करने की बात कही। राज्य सहकारी रविंद्र भाटिया ने कहा कि सहकारी आंदोलन आजादी के पूर्व का है किंतु पहले के सहकारी आंदोलन और अभी के सहकारी आंदोलन में बहुत बदलाव हुआ है। महात्मा गांधी ने सहकारिता की कल्पना की थी उसमें सब एक के लिए एक सब के लिए का नारा दिया था। सहकारिता में कुछ कमजोरियां भी है कुछ भटकाव भी है उसको दूर करके सहकारी आंदोलन को मजबूती प्रदान करने की आवश्यकता है।  रायगढ़ के विधायक प्रकाश नायक ने अपने उदबोधन में कहा कि सहकारी समितियों का गठन कमजोर वर्ग  के लोगों को सबल बनाने के लिए किया गया है उन्होंने शासन द्वारा ₹2500 में धान खरीदी के निर्णय को किसानों के हित में बताया उन्होंने कहा कि पूरे भारत की जीडीपी में गिरावट के बाद भी छत्तीसगढ़ में जीडीपी स्थिर

होने का प्रमुख कारण सहकारिता को बताया कोरोना काल में भी यहां के मजदूर खुश है तथा सरकार हमेशा किसानों को मजबूत करने के लिए और उन्हें लाभ पहुंचाने के लिए कार्य कर रही है। जिला सहकारी संघ रायगढ़ अध्यक्ष राजेश नायक ने  कहा कि सहकारी सिद्धांतों का हम अभी तक पूरा पालन नहीं कर पाए हैं इसके पालन की जरूरत है सहकारी सोसायटिओं में एकरूपता हो तथा आमसभा में सभी सोसाइटी द्वारा वित्तीय पत्रको का पाठ किया जाना चाहिए जिससे सोसाइटी के आम सदस्य किसानों को भी इसकी जानकारी हो। श्री राजेश नायक ने राज्य सहकारी संघ से अपील की जिला सहकारी संघ में स्थानांतरण व्यवस्था लागू किया जाए जिससे वहां के प्रबंधकों को स्थानांतरित करके विसंगतियों को दूर किया जा सके, जिससे इसका पूरा पूरा लाभ सोसायटिओं को होगा।

इस अवसर पर मंत्री उमेश पटेल, रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक, संघ उपाध्यक्ष रविंद्र भाटिया, जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल, मानसेवी संचालक श्रीमती शोभा चाहिल, जिला सहकारी संघ रायगढ़ अध्यक्ष राजेश नायक, राम कुमार पटेल, सरपंच कोतरा, समिति के कृषक सदस्य एवं ग्राम के अन्य नागरिक गन उपस्थित थे।

अतिथियों का श्रीफल एवं शाल से सम्मान

तारापुर सोसायटी एवम जिला सहकारी संघ द्वारा श्री उमेश पटेल मंत्री छ ग शासन, श्री प्रकाश नायक जी विधायक रायगढ़,श्री रविन्द्र भाटिया उपाध्यक्ष राज्य सहकारी संघ,श्री निराकार पटेल अध्यक्ष जिला पंचायत रायगढ़,श्रीमती शोभा चाहिल संचालक राज्य सहकारी संघ,श्री वी के शुक्ला ceo राज्य सहकारी संघ,श्री बलबीर शर्मा वरिष्ठ,का शाल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया गया।

 

—————————————————————————————————————————————

18 नवबंर 2020 Bemetara

725 नवीन पेक्स समितियों के गठन से किसानों को होगा फायदा :झुनमुन गुप्ता

सेवा सहकारी समिति मर्यादित हटहाडाडू में सहकारी सप्ताह का आयोजन

रायपुर। 67 वें सहकारी सप्ताह के 5वें दिवस के सहकारी सप्ताह का आयोजन बेमेतरा जिले के सेवा सहकारी समिति मर्यादित हटहाडाडू के प्रांगण में बुधवार को सम्पन्न हुआ। राज्य सहकारी संघ रायपुर, बेमेतरा जिला सहकारी संघ और इफको क्षेत्रीय कार्यालय दुर्ग के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस कार्यक्रम में कोविड महामारी के इस दौर में सहकारिता की भूमिका सहित अनेक विषयों पर चर्चा हुई।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्य सहकारी संघ अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता  ने कहा कि सहकारिता हमें शक्तिशाली बनाता है। कोरोना महामारी के विकट समय में  सहकारी समितियों ने अपना कार्य बिना रुकावट के किया हैं। आमजनों तक खाद्य सामग्री सप्लाई चेन बनाए रखने में, सहकारी बैंकों के माध्यम से आर्थिक गतिविधियां बनाए रखने में तथा लोगों को रोजगार देने में अहम भूमिका निभाई है।
इस संकट काल में सहकारी समितियों का कार्य अतुलनीय रहा। सेवा सहकारी समितियों के पुनर्गठन के बारे में उन्होने कहा कि प्रदेश में 725 नवीन समितियों के गठन से किसानों को बहुत सुविधा होगी। छग सरकार ने सहकारी सोसायटी अधिनियम में अनेक संशोधन करके उसे और अधिक उपयोगी बना दिया है।
श्री गुप्ता ने कहा कि कोविड महामारी के इस दौर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत नारा दिया है और छत्तीसगढ़ सरकार नरवा, गरुवा, घुरवा और बाड़ी योजना के माध्यम से इसकी शुरुआत कर चुकी है।
राज्य सहकारी संघ उपाध्यक्ष रविन्द्र सिंह भाटिया ने  कहा कि कोरोना काल के चलते पिछले 7-8 माह में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा, कोविड 19 के दौर में बाहर कार्य करने वाले लोग और किसान, नौकरी पेशा लोगों को एक बहुत बड़ी चिंता सताने लगी है लेकिन लोगो ने हार नही मानी हैं।
श्री भाटिया ने कहा कि नए समितियों  के निर्माण में 21 सदस्यों की जरूरत होती थी जिसको ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने एक प्रस्ताव पारित किया कि 10 सदस्य मिलकर भी सहकारी समिति बना कर कार्य कर सकेंगे। इसलिए कृषक बन्धुओं से आग्रह हैं कि आप भी नवीन समितियों का गठन कर अपनी आय की श्रोत में वृद्धि करेंं।
पूर्व विधायक एवं अपेक्स बैंक के पूर्व अध्यक्ष डोमेन्द्र भेड़िया ने  कहा वर्तमान राज्य सरकार छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में किसानों के हित में कार्य कर रही हैं। 2500 रुपए क्विंटल में धान खरीदी कर रही है। किसान, सरकार के प्रति आशान्वित हैं कि सरकार हमे भविष्य में अनेक सुविधाएं प्रदान करेगी।
पुरुषोतम पटेल ने कहा कि बिन सहकार नही उद्धार  कोरोना काल मे हमारे सहकारी बन्धुओ और कृषको ने डट कर कोरोना जैसे महामारी से निपटा है वो काबिले तारीफ़ है, यह सहकारिता के कारण ही सम्भव हो पाया हैं।
राज्य विपणन प्रबंधक एसके चौहान ने बताया कि  किसानों के खेतों में खाद के रूप में उपयोग हो रही हर चौथी बोरी इफको की है। उन्होंने ने राज्य सरकार के गोधन न्याय योजना की प्रशंसा किया। श्री चौहान ने किसानों को आत्मनिर्भर बनने की दिशा में काम करने की अपील की। उन्होंने किसानों को स्वयं के द्वारा निर्मिति उत्पादों को पैकिंग कर मार्केट में उपलब्ध कराकर विक्रय करके लाभ कमाने एवं आत्मनिर्भर बनने तथा सबल बनने को कहा।
संघ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी वीके शुक्ला ने कहा कि सहकारी सप्ताह सहकारिता का महापर्व हैं।सहकारिता के माध्यम से हम घर बैठे कार्य कर पैसे कमा सकते हैं और उसको बेच भी सकते हैं। पशुपालन से किस प्रकार कार्य कर आगे बढ़ सकते है इसकी जानकारी भी श्री शुक्ला ने किसानों को दिया।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से राज्य सहकारी संघ मर्यादित रायपुर अध्यक्ष झुनमुन गुप्ता, उपाध्यक्ष रविन्द्र सिंह भाटिया, पूर्व विधायक एवं अपेक्स बैंक के पूर्व अध्यक्ष डोमेन्द्र भेड़िया, पुरषोत्तम पटेल, संचालक सदस्य हरीश तिवारी, इफको के राज्य विपणन प्रबंधक एस के चौहान, मुख्य प्रबंधक इफको एस के सिंह, क्षेत्रीय प्रबंधक दिनेश गांधी, राज्य सहकारी संघ मर्यादित रायपुर सीईओ विनय कुमार शुक्ला, वरिष्ठ सहकारी निरीक्षक महेन्द्र कुमार टेकाम, जिला सहकारी संघ मर्यादित बेमेतरा प्रबंधक सोमेन्द्र कुमार साहू, सहायक प्रबंधक सृजनधर दीवान, समिति प्रबन्धक शेष नारायण टोन्ड्रे, जीवराखन साहू, नजीरुद्दीन शेख, रघुनंदन वैष्णव, लखन लाल साहू, गोपेश साहू, बलभद्र ठाकुर, दिलीप जायसवाल सहित कृषक बन्धु उपस्थित रहे।


18 November 2020 sahkari saptah, Jila Sahkari Sangh Raipur

—————————————————————————————————————————————–

18 Nov 2020, जिला सहकारी संघ धमतरी
आज दि.१८-११-२०को, दोपहर के ०२बजे,स्थान, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति संबलपुर में जिला सहकारी संघ द्वारा आयोजित अखिल भारतीय सहकारी सप्ताह के दौरान पंचम दिवस के अवसर पर मुख्य विषय-नौकरी,ब्यापार हानि पीड़ितों को पुनः नियोजित करने के लिए कौशल विकास विषय पर परिचर्चा एवं प्रशिक्षण प्रारंभ हुआ जिसमें ब्लाक धमतरी, नगरी,के पैक्स संबलपुर,भोथली,डाही सिहावा,गट्टासिल्ली,एवं मछुवा समिति सोरम, कोलियारी,के संचालक गण के साथ संघ धमतरी के संचालक रामप़साद,साहू,
की उपस्थिति प्रमुख रुप से रही है संघ धमतरी के अध्यक्ष प्रवीण कुमार चंद्राकर ने प्रशिक्षण में बताया कि सहकारी समिति अपने प्रमुख उद्देश्य के लिए कार्य नही कर पा,रही है। सहकारी समिति के गठन का उद्देश्य सदस्य को आर्थिक रूप से अधिक समर्थ बनाना है। नियमित रूप से लाभांश बांटना चाहिए, खर्च में कटौती की जाये ताकि लाभ अधिक हो, शासन या अन्य एजेंसियों के सहयोग से अधिक से अधिक कार्य करें एवं अनुबंध के आधार पर कार्य न हो तो लगातार पत्र ब्यवहार करते रहे ताकि आपका पक्ष मजबूत रहे, सभी संचालक गण आपस में सहयोग कर समिति की समस्या को हल करें, नियमों के अनुसार समितियों का संचालन करें कृषक सदस्यों के लिए नियमित रूप से प्रशिक्षण एवं अन्य कार्य करें, साथ ही मछुआरों की समितियों में आधुनिक युग के अनुसार कार्य नही हो पा रहा है,नयी टेक्नोलॉजी के अनुसार समितियों में मछुवा पालन से ही मछुआरों की आमदनी बढ़ेगी, उपस्थिति सदस्यों ने अपनी समिति संचालन में आ रही कठिनाई के बारे में जानकारी दी, जिसके समाधान के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। वर्तमान में धान खरीदी के लिए बारदानो की कमी के चलते आने वाले समय में किसान की परेसानी के बारे में भी सहकारी समितियों के सदस्यों ने चिंता जताई है, समाधान किया गया कि नियमित रूप से मार्कफेड से संपर्क बना कर रखें।इसी तरह से,मछुवा समितियों से आग्रह किया गया कि उन्नत मछुवा कृषकों के संपर्क में रहें, और मा.पी.एम.महोदय, के द्वारा आयोजित नील हरित योजना जो कि२००००करोड, रुपए की है इसका लाभ लेवें, आज, करोना महामारी के कारण रोजगार का संकट पैदा हो गया है इस गंभीर समय मे हम अपने कौशल मे वृद्धि करें,नयी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर अपनी क्षमता वृद्धि करें, इससे आप स्वयं रोजगार पायेंगे ही।अंत में,संगोष्ठी समापन पर संघ के संचालक राम प्रसादसाहू ने सभी उपस्थित जनो का आभार व्यक्त किया

—————————————————————————————————————————————–




Scroll to top